#Ram Mandir: प्राण प्रतिष्ठा से 48 घंटे पहले होंगे 25,000 कार्यक्रम, बाजार में राम नाम वाले सामान की धूम#

- Advertisement -

अयोध्या में होने वाले राम के प्राण प्रतिष्ठा समारोह से 48 घंटे पहले देशभर में लगभग 25 हजार बड़े कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं। मार्केट में राम नाम की वस्तुओं की बिक्री का बूम आ गया है। कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) के राष्ट्रीय महामंत्री प्रवीण खंडेलवाल ने श्रीराम मंदिर के प्राण प्रतिष्ठा समारोह से पहले देश में एक लाख करोड़ रुपये का व्यापार होने का जो अनुमान लगाया था, वह अपने लक्ष्य के करीब जा पहुंचा है। चूंकि अभी प्राण प्रतिष्ठा समारोह के प्रारंभ होने में 48 घंटे बचे हैं, इसलिए संभव है कि कारोबार का वह आकड़ा, उस अनुमान के पार पहुंच जाएगा। 22 जनवरी को देशभर के बाजारों में महा दीपावली का उत्सव मनेगा। खंडेलवाल के मुताबिक, दिल्ली सहित देश के दूसरे हिस्सों में लोग, राम के रंग में पूरी तरह से रंगते हुए नजर आ रहे हैं। चारों तरफ राम ही राम के नाम की धूम है। लोगों में राम के प्रति उत्साह और उल्लास देखते ही बन रहा है। कैट के तहत आने वाले हजारों छोटे बड़े व्यापारिक संगठनों ने राम उत्सव के लिए बड़ी तैयारियां की हैं। 22 जनवरी को भारत भर में ‘मेरे राम’ का बड़ा जयघोष होना तय है। कैट के राष्ट्रीय अध्यक्ष बीसी भरतिया के अनुसार, 19 दिसंबर को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ एवं विश्व हिंदू परिषद ने दिल्ली में कैट के प्रमुख व्यापारिक नेताओं के साथ एक बैठक की थी। इसमें दिल्ली सहित देश भर के बाजारों को राम मय करने का आग्रह किया गया था। उसके बाद देशभर के सभी व्यापारी संगठन श्रीराम के काज में जुट गए। चारों तरफ श्रीराम के कार्यक्रमों की बाढ़ सी आ गई है।

देशभर में कहीं शोभा यात्रा निकल रही हैं, तो कहीं राम चौकी का आयोजन हो रहा है। कहीं हनुमान चालीसा का पाठ किया जा रहा है, तो कहीं राम संवाद के कार्यक्रम आयोजित हो रहे हैं। बाजारों में श्रीराम फेरी निकाली गई हैं। श्रीराम की कीर्तन यात्रा में बड़ी संख्या में लोग शामिल हुए हैं। अनेक शहरों में श्रीराम मंदिर की कृति बनाई गई हैं। दिल्ली के बाजार, राम झंडों से सज गए हैं। 22 जनवरी को बाजारों को रोशनी से जगमग करने की व्यापक तैयारियां पूरी हो चुकी हैं। श्रीराम से संबंधित वस्तुओं की बड़े पैमाने पर बिक्री हो रही है। चाहे वो राम मंदिर के मॉडल हों या फिर राम ध्वज, राम पटका, माला, लाकेट, हाथ के कढ़ें या फिर श्रीराम के लॉकेट, ऐसी वस्तुओं की बाजार में भारी मांग है। बड़ी संख्या में हुए संगीतमय कार्यक्रमों से छोटे कलाकारों को काम मिला है। भंडारे करने के लिए हलवाई और कैटर्स की कमी पड़ गई है।

खंडेलवाल ने बताया, 21 और 22 जनवरी को देशभर में करीब 25 हजार कार्यक्रम आयोजित होंगे। दिल्ली की बात करें, तो यहां पर छोटे बड़े 3,000 से अधिक कार्यक्रम होने जा रहे हैं। दिल्ली के चांदनी चौक के गौरीशंकर मंदिर से एक विशाल श्रीराम शोभा यात्रा निकाली जाएगी। दो दिनों में बड़े पैमाने पर श्री सुंदरकांड के पाठ होंगे। देश भर के बाजारों में एलईडी लगाकर अयोध्या धाम से सीधा प्रसारण लोगों को दिखाया जाएगा। लोग अपनी दुकानों और घरों को फूलों एवं रोशनी से सजाने लगे हैं। बाजारों और व्यापारियों के घरों में महा दीपावली का आयोजन होगा। 22 जनवरी को दिल्ली में एक हजार से अधिक स्थानों पर भंडारे आयोजित होंगे।

- Advertisement -

कैट ने 1 जनवरी को दिल्ली के गौरीशंकर मंदिर से ‘हर शहर अयोध्या-घर घर अयोध्या’ राष्ट्रीय अभियान शुरू किया था। एक मोटे अनुमान के अनुसार अब तक दिल्ली में 300 से अधिक श्रीराम संवाद हुए हैं। वहीं बाजार में 500 से अधिक श्री राम फेरी निकाली गई हैं। 22 जनवरी तक दिल्ली में लगभग 200 छोटी-बड़ी श्रीराम शोभा यात्रा निकाली जाएंगी। 200 से अधिक संगीतमय कार्यक्रम हो चुके हैं। कैट ने श्रीराम पर एक मधुर गीत ‘हर साज पर राम बजे’ 18 जनवरी को ही रिलीज किया है। बाजारों को सजाने के लिए राम झंडे, पटके, टोपी, टी शर्ट व राम मंदिर की आकृति के छपे कुर्ते आदि की जबरदस्त मांग है। जिस तरह से राम मंदिर के मॉडल की मांग में तेजी से वृद्धि हुई है, उसको देखते हुए देश भर में पांच करोड़ से अधिक मॉडल की बिक्री होने की संभावना है।