#बिहार पुलिस का अमानवीय चेहरा: घरेलू हिंसा की शिकार महिला ने मांगी मदद, बेहोशी की हालत में छोड़कर लौट गई पुलिस#

- Advertisement -

मुजफ्फरपुर जिले के बोचहां में एक बार फिर बिहार पुलिस का अमानवीय चेहरा देखने को मिला। बोचहां थाना क्षेत्र के गांव बुधनगरा की एक महिला ने पति के पीटने और हत्या करने की कोशिश के दौरान किसी तरह पुलिस को सूचना दी। सूचना मिलने पर पुलिस पहुंची, लेकिन महिला को बेहाशी की हालत में छोड़कर वापस लौट आई। पुलिस ने महिला को अस्पताल पहुंचाना या एंबुलेंस को फोन करना भी जरूरी नहीं समझा।

होश में आने के बाद पीड़िता रामायणी देवी ने खुद फोनकर एंबुलेंस बुलाई और इलाज कराने सीएचसी पहुंची। पीड़िता ने आपबीती बयां करते हुए बताया कि मंगलवार को पति सोनू कुमार ने उसकी बहुत पिटाई की। वह गला दबाकर उसकी हत्या करना चाह रहा था। किसी तरह वह शौचालय में घुसने में कामयाब हो गई और वहां से पुलिस को फोन किया।

इसके बाद पुलिस के पहुंचते ही सोनू भाग निकला और महिला बेहोश हो गई। पीड़िता के मुताबिक, पुलिस उसे बेहोशी की हालत में छोड़कर ही वापस लौट गई। पुलिस ने उसे अस्पताल पहुंचाना या एंबुलेंस को बुलाना भी जरूरी नहीं समझा।

- Advertisement -

8 साल पहले हुई थी शादी, 4 बच्चों की मां है पीड़िता
पीड़िता का कहना है कि वह सुपौल जिले की रहने वाली है। आठ साल पहले उसकी शादी सोनू कुमार से हुई थी। उसके चार बच्चे हैं, जिनमें से दो बच्चे ननिहाल में रहते हैं। वह दो बच्चों और पति के साथ यहां रहती है। उसके पति को नशे की आदत है। वह नशा करने के लिए पैसे मांगता है और नहीं देने पर जानवरों की तरह पीटता है।

पहले भी करा चुकी है FIR, नहीं हुई कार्रवाई
छह महीने पहले भी उसने पति के खिलाफ थाने में एफाआई आर दर्ज कराई थी, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई। मामले को लेकर जनप्रतिनिधियों के द्वारा भी उसके पति को कई बार समझाया जा चुका है, लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई।

इस मामले में प्रभारी थानाध्यक्ष रंजीत कुमार गुप्ता ने बताया कि महिला की ओर से सूचना मिलने पर एसआई संजय कुमार सिंह को भेजा गया था। उनसे बात करके पूरे मामले की जानकारी ली जाएगी।