धू-धू कर जला तहसील परिसर में खुले में रखा ट्रांसफार्मर,बड़ा हादसा टला

- Advertisement -

धू-धू कर जला तहसील परिसर में खुले में रखा ट्रांसफार्मर,बड़ा हादसा टला
(विद्युत आपूर्ति बाधित होने से लोग बेहाल)

कर्नलगंज, गोण्डा। तहसील परिसर में कई वर्षों से खुले में रखा ट्रांसफार्मर उस वक्त आग की लपटों से घिर गया जब बिजली के बढ़ते लोड की वजह से उसमें आग लग गई। आग लगते ही ट्रांसफार्मर से तेल का रिसाव होने लगा, जिससे आग पूरे ट्रांसफार्मर में धधक उठी और जब तक लोग कुछ समझ पाते तब तक देखते ही देखते ट्रांसफार्मर धू धू करके जलने लगा जिस पर मौजूद लोगों की मदद से किसी तरह उसे बुझाकर आग पर काबू पाया गया। मालूम हो उक्त ट्रांसफार्मर कई वर्षों से तहसील परिसर में खुले में रखा है जिसके पास ही वकीलों के तख्ते भी रखे हैं जहाँ कई वकील,मुंशी व वादकारी भी प्रायः बैठते हैं वहीं उसी के सटा हुआ शौंचालय,पेशाब घर जाने का रास्ता भी है। यदि आग फैलती तो आसपास के वकीलों के तख्ते व अभिलेखों को चपेट में ले सकती थी। गनीमत रही कि आग पर नियंत्रण पा लिया गया जिससे बड़ा हादसा होने से टल गया. प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि ट्रांसफार्मर में इस प्रकार आग पकड़ ली थी कि अगर कुछ देर और इस पर काबू ना पाया जाता तो यह ट्रांसफार्मर फट जाता जिससे आग और ट्रांसफार्मर का तेल आसपास काफी नुकसान पहुंचा सकता था। लिहाजा वक्त रहते इस पर काबू पा लिया गया। नुकसान यह हुआ कि बिजली का ट्रांसफार्मर जल जाने की वजह से विद्युत आपूर्ति बाधित हो गई है लेकिन संतुष्टि है कि कोई बड़ा नुकसान नहीं हुआ। ट्रांसफार्मर एक-दो दिन में लग जाएगा। वहीं लोगों ने कहा कि एक तो भीषण गर्मी ऊपर से बिजली की ओवरलोडिंग की वजह से ट्रांसफॉर्मर हांफ रहे हैं। बता दें कि उक्त खुले में रखे ट्रांसफार्मर के संबंध में विभाग को पूर्व में सूचित किया जा चुका है और इससे होने वाले किसी बड़े हादसे से भी आगाह किया जा चुका है लेकिन विभाग व तहसील स्तरीय अधिकारी जानबूझकर बेखबर बने हैं जिससे यदि शीघ्र दुर्घटना को दावत दे रहे खुले में रखे ट्रांसफॉर्मर की सुरक्षित स्थान पर रखवाकर बैराकेडिंग ना कराई गई तो किसी बड़े हादसे से इंकार नहीं किया जा सकता है।