#Poonam Pandey की ‘फेक मौत’ प्लान करने वाली कंपनी ने कहा- Cervical Cancer के ल‍िए फैलानी थी जागरुकता#

- Advertisement -

मॉडल और एक्ट्रेस पूनम पांडे के ‘फेक मौत’ वाले स्टंट ने बहुत चर्चा बटोरी. पहले पूनम के इंस्टाग्राम से ये खबर शेयर हुई कि पूनम अब दुनिया में नहीं रहीं और सर्विकल कैंसर से उनकी मौत हो गई है. इस खबर ने पूरी एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री समेत जनता को शॉक कर दिया. तमाम सेलेब्स से लेकर जनता तक ने पूनम को सोशल मीडिया पर श्रद्धांजलि देना तो शुरू कर दिया, मगर लोगों को इस बात पर यकीन तक नहीं हो रहा था कि पूनम के साथ अचानक ये कैसे हो गया घंटे के अंदर पूनम के अकाउंट से एक नया वीडियो आ गया, जिसमें वो खुद मौजूद थीं. पूनम ने कहा कि वो जीवित हैं, एकदम सही सलामत हैं और उन्होंने ये स्टंट उन्होंने जनता में सर्विकल कैंसर की जागरुकता फैलाने के लिए किया. इस पूरे मामले से, अवेयरनेस कैम्पेन्स के लिए इस तरह के गिमिक करने को लेकर बहस शुरू हो चुकी है मामला इतना विवादास्पद रहा कि इसे लेकर पूनम के खिलाफ कानूनी शिकायत भी हो चुकी है और उनके खिलाफ ‘धोखाधड़ी’ का केस दर्ज करने की मांग की गई है. अब पूनम का ये ‘अवेयरनेस कैम्पेन’ प्लान करने वाली कंपनी ने सामने आकर सोशल मीडिया पर माफी मांगी है पूनम के साथ ये कैम्पेन करने वाली कंपनी शबैंग ने अपने ऑफिशियल सोशल मीडिया हैंडल से एक नोट शेयर करते हुए कहा कि उनके इस एक्शन के पीछे केवल ‘एक ही मिशन था- सर्विकल कैंसर के प्रति जागरुकता बढ़ाना अपने नोट में इस कंपनी ने कहा, ‘पहले तो, हम दिल से माफी मांगते हैं- खासकर उनसे, जो खुद या अपने किसी चाहने वाले ओ किसी भी तरह के कैंसर से लड़ते हुए, तकलीफ में देखने की वजह से ट्रिगर हुए. हमारा ये एक्शन काल एक ही मिशन से प्रेरित था- सर्विकल कैंसर के लिए जागरुकता बढ़ाना आगे अपने नोट में इस कंपनी ने कहा, ‘आप में से बहुतों को ये पता नहीं होगा, लेकिन पूनम की मां ने भी बहादरी से कैंसर का मुकाबला किया है. अपने बेहद करीब, इस तरह की बिमारी के चैलेंज देखने की वजह से वो इसके बचाव और अवेयरनेस की गंभीरता को समझती हैं, खासकर तब जब इसकी वैक्सीन उपलब्ध हो. कुछ दिन पहले ही माननीय वित्त मंत्री ने यूनियन बजट में इसका जिक्र किया था, लेकिन सर्विकल कैंसर को लेकर जनता की जिज्ञासा में कोई बदलाव नहीं आया था शबैंग ने आगे लिखा कि पूनम के इस एक्ट की वजह से सर्विकल कैंसर और उससे जुड़े टॉपिक गूगल पर ‘मोस्ट सर्च्ड’ बन गए. ये पहली बार है जब ‘सर्विकल कैंसर’ शब्द 1000 से ज्यादा सुर्खियों में आया हालांकि, पूनम पांडे ने जिस तरह ये अवेयरनेस कैम्पेन को किया, उसकी सोशल मीडिया पर बहुत आलोचना हुई. कई यूजर्स और सेलेब्रिटीज पब्लिसिटी के लिए ‘अपनी मौत की अफवाह उड़ाने’ पर पूनम से खफा हुए