#PM Kisan Yojana के लाभार्थ‍ियों के ल‍िए अपडेट, इन तीन गलत‍ियों पर रुक सकती है 16वीं क‍िस्‍त#

- Advertisement -

केंद्र की मोदी सरकार और अलग-अलग राज्‍य सरकारों की तरफ से क‍िसानों को आर्थ‍िक रूप से सशक्‍त करने के ल‍िए तमाम योजनाएं चलाई जा रही हैं. इसी में से एक केंद्र की सबसे महत्‍वाकांक्षी योजना प्रधानमंत्री क‍िसान सम्‍मान न‍िध‍ि (PM Kisan Samman Nidhi) योजना है. इसके तहत पात्र क‍िसानों को सालाना 6000 रुपये द‍िये जाते हैं. यह पैसा हर चार महीने पर 2000 रुपये की क‍िस्‍त के तौर पर द‍िया जाता है. अब तक सरकार की तरफ से इसकी 15 क‍िस्‍त क‍िसानों के खातों में डीबीटी के जर‍िये ट्रांसफर की जा चुकी हैं.

बजट से पहले कुछ मीड‍िया र‍िपोर्ट में यह भी दावा क‍िया जा रहा है क‍ि इस सरकार लाभार्थ‍ियों को म‍िलने वाली राश‍ि में इजाफा कर सकती है. इस बार क‍िसानों के खाते में योजना से जुड़ी 16वीं क‍िस्‍त आनी है. लेकिन कुछ क‍िसान सरकार की तरफ से म‍िलने वाली इस योजना के फायदे को उठाने से वंच‍ित भी रह सकते हैं. यानी कुछ कम‍ियों के कारण उनकी क‍िस्‍त अटक सकती है. आइए जानते हैं क‍िनका क‍िस्‍त से जुड़ा पैसा अटक सकता है?

ई-केवाईसी प्रोसेस पूरा नहीं करने पर
सरकार की तरफ से क‍िसानों की ई-केवाईसी कराने के ल‍िए लंबे समय से जोर द‍िया जा रहा है. लेक‍िन इसके बावजूद भी तमाम क‍िसान ऐसे हैं ज‍िनका ई-केवाईसी से जुड़ा काम अभी तक पूरा नहीं हुआ है. नियमानुसार हर लाभार्थी को ई-केवाईसी प्रोसेस पूरा करना जरूरी है. इसके नहीं होने पर पात्र क‍िसान क‍िस्‍त से वंचित रह सकता है. ई-केवाईसी प्रोसेस को पूरा करने के ल‍िए आप अपने नजदीकी सीएससी सेंटर जाकर प्रक्र‍िया पूरी कर सकते हैं. आप पीएम क‍िसान की ऑफ‍िश‍ियल वेबसाइट pmkisan.gov.in के जर‍िये भी केवाईसी कर सकते हैं.

- Advertisement -

फॉर्म में कोई गलती हुई तो…
अगर आपने इस सरकारी योजना के फॉर्म को भरने में क‍िसी प्रकार की गलती कर दी है तब भी आपको र‍िजेक्‍ट क‍िया जा सकता है. आमतौर पर क‍िसानों से होने वाली गलती में गलत नाम दर्ज करना, अंग्रेजी की जगह हिंदी में नाम ल‍िखना, जेंडर गलत भरना या आधार नंबर गलत दर्ज करना है. इसल‍िए फॉर्म भरते समय ऊपर बताई गई अलग-अलग गलत‍ियों का ध्‍यान रखें.

लैंड वेर‍िफ‍िकेशन
अगर आपका अभी तक भी लैंड वेर‍िफ‍िकेशन का काम पूरा नहीं हुआ तो आपकी पीएम क‍िसान की 16वीं क‍िस्‍त रुख सकती है. केंद्र सरकार की महत्‍वाकांक्षी योजना से जुड़े हर किसान को भू-सात्‍यापन कराना जरूरी है. आपकी तरफ से दी गई बैंक खाते की जानकारी गलत होने पर भी आप क‍िस्‍त से वंचित रह सकते हैं.