#गला दबाकर हत्या, बेड बॉक्स में छिपाया था शिवांश का शव… दो दिन तक फूफा ऐसे देता रहा चकमा, इसलिए ली थी मासूम की जान#

- Advertisement -

एनआईटी की भगत सिंह कालोनी में मंगलवार से गायब छह साल के बच्चे का शव पास में रहने वाली उसकी बुआ बबीता के घर से बरामद हुआ है।
शव मकान के ऊपर बने कमरे के अंदर बेड के अंदर था। बच्चे के हाथ-पैर बंधे हुए थे। गला दबाकर हत्या करने का अनुमान है। सूचना मिलने पर हलचल मच गई। मौके पर पुलिस व क्राइम ब्रांच की टीम पहुंची। शव को बादशाह खान नागरिक अस्पताल में रखवाया
एनआईटी थाने में अपहरण के साथ अब इस मामले में हत्या की धारा जोड़ दी है। पुलिस ने बच्चे के फूफा को हिरासत में लिया है। इसी पर हत्या का शक है। पूछताछ के लिए बच्चे की बुआ को भी हिरासत में लिया हुआ है।

ऐसे गायब हुआ बच्चा
मंगलवार को बच्चा अपने घर के बाहर से अचानक गायब हो गया था। बच्चे की स्वजन और पुलिस ने खूब तलाश की लेकिन कुछ पता नहीं लगा। एनआईटी थाना पुलिस ने अपहरण की धारा के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया था।

यहां रहने वाले भानू ने पुलिस को दी शिकायत में बताया कि उनका छोटा बेटा शिवांश उर्फ छोटू मंगलवार शाम करीब साढ़े सात बजे घर के बाहर खेल रहा था। उसके बाद कहां चला गया, इसका पता नहीं लगा। उन्होंने शक जाहिर किया था कि बेटे को किसी ने अगवा कर लिया है।

- Advertisement -

सीसीटीवी कैमरे से पता लगा
बच्चे के घर के सामने एक मकान के बाहर सीसीटीवी कैमरा लगा है। इसकी फुटेज से पता लगा कि बच्चा पास में रहने वाली अपनी बुआ के घर में गया था लेकिन बाहर नहीं निकला। शक के आधार पर पुलिस ने बच्चे के फूफा बलराम के बच्चों से पूछताछ की।

पता लगा कि बलराम दिल्ली में एक फैक्ट्री में काम करता है और महीने में दो-तीन बार यहां आता है। जिस दिन से बच्चा गायब हुआ था, उसी दिन बलराम चला गया था। उसके बाद से घर नहीं आया। पुलिस ने शक के आधार पर बलराम को दिल्ली जाकर काबू किया और सख्ती से पूछताछ की।

रंजिश के चलते की हत्या
बच्चे की मां सिमरन ने बताया कि बलराम अपनी पत्नी बबीता के साथ अक्सर मारपीट करता था। करीब चार साल पहले उसने बबीता के साथ मारपीट की थी। बच्चे के पिता यानी बबीता के भाई भानू ने अपने जीजा बलराम को दो-चार थप्पड़ जड़ दिए।

उस समय ही बलराम ने कहा था कि तूझे खून के आंसू रुलाउंगा। तूझे बर्बाद कर दूंगा। आशंका है कि तब से बलराम रंजिश पाले हुए था। इसी रंजिश के चलते उसने बच्चे काे अपने मकान के ऊपर वाले कमरे में ले जाकर मार दिया और शव को बेड के अंदर छुपा दिया। अब पुलिस बच्चे की बुआ बबीता से भी पूछताछ कर रही है।

मोमोज खाने के बहाने बुलाया
पता चला है कि जिस दिन बच्चा गायब हुआ, उस दिन बलराम मोमोज लाया था। मोमोज खिलाने के बहाने उसने शिवांश को अपने घर में बुला लिया और चुपके से उसे ऊपर वाले कमरे में ले गया। इस कमरे में बेड के अलावा अन्य प्रकार का सामान रखा रहता है। कमरे में कोई सोता या रहता नहीं था।

हमें बर्बाद कर दिया
बच्चे की मां सिमरन का रो-रोकर बुरा हाल है। वह बिलखते हुए कह रही थी कि बलराम ने वास्तव में ही बर्बाद कर दिया। वह यह बात कहता रहता था। आसपास के लोग भी इस हादसे को लेकर सहम गए। उन्हें यकीन ही नहीं हो रहा था कि रिश्तेदार ही बच्चे के साथ ऐसी हरकत कर सकता है।

हालांकि सिमरन बार-बार यह भी कह रही थी कि बबीता बच्चे से बहुत प्यार करती थी। वह इस कांड में कतई शामिल नहीं हो सकती।