#राज्यों के विधानसभा चुनाव का एलान: मायावती बोलीं- स्वतंत्र व निष्पक्ष चुनाव कराना आयोग के सामने बड़ी चुनौती#

- Advertisement -

केंद्रीय चुनाव आयोग द्वारा पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव कार्यक्रम की घोषणा का बसपा सुप्रीमो मायावती ने स्वागत किया है पर ये भी कहा कि धनबल और सरकारी मशीनरी का दुरुपयोग रोककर निष्पक्ष चुनाव कराना आयोग की बड़ी जिम्मेदारी है। उन्होंने कहा कि बसपा मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में स्थानीय दलों से समझौता कर चुनाव लड़ी है जबकि राजस्थान व तेलंगाना में अकेले ही चुनाव लड़ेगी।

उन्होंने सोशल मीडिया साइट एक्स पर कहा कि मध्य प्रदेश, राजस्थान, तेलंगाना, छत्तीसगढ़ और मिजोरम विधानसभा आमचुनाव अगले महीने कराने की घोषणा का स्वागत है किन्तु चुनाव आयोग के लिए असली चुनौती सरकारी मशीनरी व धनबल आदि के दुरुपयोग को रोककर चुनाव को पूरी तरह स्वतंत्र व निष्पक्ष कराने की है जिस पर लोकतंत्र का भविष्य निर्भर है।उन्होंने आगे कहा कि खासकर सत्ताधारी पार्टी द्वारा चुनाव को गलत दिशा में प्रभावित करने के लिए लुभावने वादे व हवाहवाई घोषणाओं आदि पर अंकुश लगना जरूरी जिसको लेकर सुप्रीम कोर्ट ने नोटिस भी जारी किया है। जातिवाद व सांप्रदायिकता का उन्माद व हिंसा के खिलाफ सख्त कार्रवाई अत्यावश्यक है।

बसपा मध्य प्रदेश व छत्तीसगढ़ राज्य में गोण्डवाना गणतंत्र पार्टी के साथ चुनावी समझौता करने के अलावा, मिजोरम को छोड़कर, राजस्थान व तेलंगाना इन दोनों राज्य में अकेले ही बिना किसी से कोई समझौता किए हुए चुनाव लड़ रही है और इन राज्यों में अच्छे परिणाम की उम्मीद करती है।

- Advertisement -

इसके पहले सोमवार को बसपा संस्थापक कांशीराम के परिनिर्वाण दिवस पर मायावती ने पार्टी नेताओं के सामने उन्हें पुष्पांजलि अर्पित की और उनके मिशन को पूरा करने का संकल्प लिया।