#कर्मचारियों का पीएफ न जमा करने वाले पूर्व सांसद होंगे गिरफ्तार, छह करोड़ रुपये हैं बकाया#

- Advertisement -

कर्मचारियों की भविष्य निधि (पीएफ) के रुपये नहीं जमा करने वाले मेसर्स जेएचवी शुगर कारपोरेशन लिमिटेड गड़ौरा, महराजगंज के मालिक व सपा के पूर्व सांसद जवाहर लाल जायसवाल और उनके बेटे गौरव जायसवाल गिरफ्तार किए जाएंगे। जवाहर लाल जायसवाल चंदौली के सांसद रह चुके हैं।
कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (ईपीएफओ) ने पूर्व सांसद व उनके बेटे की गिरफ्तारी का वारंट जारी किया है। दोनों लोगों पर 250 कर्मचारियों के पीएफ के करीब छह करोड़ रुपये बकाया हैं। इसके साथ शेष अवधि की देय राशि के निर्धारण के लिए ईपीएफओ ने मिल मालिकों को समन जारी किया है।

वर्ष 2015 से कट रहा था पीएफ
चीनी मिल प्रबंधन वर्ष 2015 से ही हर महीने कर्मचारियों के वेतन से पीएफ के अंशदान की कटौती कर रहा था, लेकिन खाते में रुपये नहीं जमा कर रहा था। ईपीएफओ ने वर्ष 2021 में मिल मालिक व चंदौली के पूर्व सपा सांसद जवाहर लाल जायसवाल व गौरव जायसवाल के खिलाफ एफआइआर दर्ज कराई थी।

वसूली अधिकारी को है गिरफ्तार करने का अधिकार
कर्मचारियों के पीएफ के रुपये न जमा करने वालों को नोटिस दिया जाता है। यदि रुपये न जमा हुए तो ईपीएफओ के क्षेत्रीय आयुक्त/सहायक आयुक्त को वारंट जारी कर गिरफ्तारी करने का अधिकार है। यही वसूली अधिकारी भी होते हैं। क्षेत्रीय आयुक्त/सहायक आयुक्त खुद ही गिरफ्तारी कर रुपये न जमा करने वालों को जेल भेजते हैं।

- Advertisement -

भुगतान नहीं किया, फिर भी हो गया गन्ने का आवंटन
मिल प्रबंधन ने पेराई सत्र 2020-21 में महराजगंज के किसानों से आठ लाख 15 हजार क्विंटल गन्ने की खरीद की थी। इस गन्ने का कुल मूल्य 26 करोड़ 16 लाख रुपये था, लेकिन इसका भुगतान नहीं हो सका। किसान लगातार मिल प्रबंधन से भुगतान की गुहार लगाते रहे, लेकिन कोई लाभ नहीं हुआ। इसके बाद भी गन्ना आवंटित कर दिया गया।

क्या कहते हैं अधिकारी
ईपीएफओ गोरखपुर क्षेत्रीय आयुक्त शशांक जायसवाल ने कहा कि कर्मचारियों को भविष्य निधि का पैसा न देने वालों को छोड़ा नहीं जाएगा। गड़ौरा चीनी मिल के मालिकों के खिलाफ वारंट जारी किया गया है। कर्मचारियों को उनके रुपये दिलाए जाएंगे।