#सर्व सेवा संघ पर रेलवे द्वारा अवैध कब्जे के खिलाफ गाँधीजनो ने बनारस के नागरिक समाज के साथ कि बैठक#

- Advertisement -

वाराणसी : सर्व सेवा संघ पर रेलवे द्वारा अवैध कब्जे के
खिलाफ गाँधीजनो ने बनारस के नागरिक समाज के साथ कि बैठक। कल 25 जुलाई को बड़ी संख्या में शास्त्री घाट पर गोलबंदी करने का ऐलान।
,
सर्व सेवा संघ ने बनारस के नागरिक समाज और राजनैतिक दलों के साथ बैठक की।

बैठक में 22 जुलाई को सुबह सुबह बिना किसी पूर्व सूचना के सर्व सेवा संघ परिसर राजघाट में रेलवे , वाराणसी प्रशासन और पुलिस के जबरन घुसने और बलात अधखुली नींद में दशकों से रह रहे परिवारों को बाहर निकाले जाने की घटना की निंदा की गई।

सर्व सेवा संघ प्रकाशन की 3 करोड़ से अधिक की किताबों को खुले में फेंक दिए जाने को राष्ट्रपिता महात्मा गांधी का अपमान बताया गया। गांधी विनोबा जेपी और तमाम स्वतंत्रता सेनानियों के हस्तलिखित कागजात आजादी के आंदोलन की धरोहर हैं। उन्हें कूड़े की तरह जमीन और फेंक दिया गया। प्रशासन की इस गुंडागर्दी पर सवाल पूछने और असहमति जताने पर वरिष्ठ गाँधीजनो को गिरफ्तार करके जेल भेज दिया गया। दिन भर सर्व सेवा संघ से जुड़े गाँधीजन समान किताब की सुरक्षा करने की कोशिश करते रहे। प्रशासन ने मजदूर तक अंदर नही जाने दिया। दशकों से रह रहे परिसर निवासी बुरी तरह से पीड़ा में है। किसी वृद्ध गाँधीजन की दवा और जाँच रपट अंदर सील हो गयी है तो किसी विद्यार्थी की पढ़ाई लिखाई की किताबें।

- Advertisement -

गांधी नेहरू जेपी बाबू जगजीवनराम लालबहादुर शास्त्री के विचार और कर्म से बने सर्व सेवा संघ के गेट पर आज रेलवे का बैनर लटका हुआ है। अंदर जाना दण्डनीय अपराध है ये बतलाया जा रहा है।

बनारस के नागरिक समाज ने इस संघर्ष को अपने हाथों में लेने का संकल्प लिया। देश भर से आए वरिष्ठ गाँधीजनो का अपना परिसर सर्व सेवा संघ अवैध कब्जे में जाने के वजह से इन वरिष्ठ जनों को बनारस में रहने में दिक्कत आ रही है, इस पर बनारस के नागरिक समाज ने सभी साथियो के रहने खाने और साथ रहने की अपील की और आश्वासन दिया कि आप सब इस लड़ाई में अकेले नही है, बल्कि बनारस का आम नागरिक भी जुड़ेगा।

कांग्रेस , समाजवादी जनपरिषद, आप पार्टी आदि राजनैतिक दलों ने धरोहर मिटाने की इस कोशिश के खिलाफ बड़े आंदोलन की जरूरत बताई।

असहमति और पीड़ा के बीच कल 25 जुलाई 2023 को दिन में 11 बजे से शास्त्री घाट कचहरी पर बड़ी संख्या में जुटकर प्रतिरोध सभा करने का तय किया गया। और जमीन की भूखी नासमझ सरकार का प्रतिवाद करने का तय किया गया।

बापू और विनोबा के प्रेरणा से बनी इस निर्मिति को अपने अमीर दोस्तो को उपहार में देने के कुत्सित सोच को फलीभूत नही होने देना है का संकल्प लेते हुए आज की बैठक समाप्त की गई।

बैठक में प्रमुख रुप से सर्व सेवा संघ अध्यक्ष चंदन पाल, रामधीरज भाई, आशा बहन, अरविंद अंजुम, पदम् श्री रामचन्द्र राही, फ़ा आनंद, सतीश सिंह, संजीव सिंह, नंदलाल मास्टर, अफलातून, नीति भाई, रामजनम, महेंद्र , संत प्रकाश, मनीष शर्मा, विनोद, जागृति राही, धनञ्जय त्रिपाठी, अनूप श्रमिक, जितेंद आदि प्रमुख रहे।