#गाड़ियों में दो-दो गोलियो के मिले निशान, चार घंटे चली जांच, लापता योगेश का नहीं सुराग#

- Advertisement -

कुख्यात अनिल दुजाना के एनकाउंटर के मामले में जानी थाना पुलिस ने दोनों गाड़ियों की फॉरेंसिक टीम से जांच कराई। इसमें एक स्कार्पियो एसटीएफ और दूसरी गाड़ी अनिल दुजाना की है, जिसमें वह सवार था। टीम ने दोनों गाड़ियों की करीब चार घंटे तक जांच की। एसटीएफ की स्कार्पियो के सामने वाले शीशे में दो गोली मारी गई हैं, जो अनिल दुजाना की तरफ से चलाई गई थीं। जिस स्कार्पियो में अनिल दुजाना था उसमें भी दो गोली लगी मिलीं, जो जवाबी कार्रवाई में एसटीएफ ने चलाई थीं। एक गोली अनिल दुजाना की स्कार्पियो के पीछे वाले शीशे में लगकर छत से बाहर निकल गई। दूसरी गोली का निशान गाड़ी के पीछे वाली नंबर प्लेट पर मिला। फॉरेंसिक टीम ने जांच के बाद रिपोर्ट उच्च अधिकारियों को भेज दी।
जांच ट्रांसफर कराने के लिए एसएसपी को भेजी रिपोर्ट
अनिल दुजाना का एनकाउंटर काफी सुर्खियों में है, जिस जगह पर एनकाउंटर हुआ था वह जानी थाना क्षेत्र के अंतर्गत आता है। पुलिस के पास काम का काफी दबाव रहता है। ऐसे में पुलिस की तरफ से इस प्रकरण की जांच क्राइम ब्रांच से कराने के लिए एसएसपी रोहित सिंह सजवाण को रिपोर्ट भेजी है।
थाना प्रभारी राजेश कंबोज ने बताया कि क्राइम ब्रांच से जांच कराने के लिए रिपोर्ट भेज दी गई है। उच्च अधिकारियों का जो भी आदेश होगा उसके अनुसार कार्रवाई की जाएगी।
डीसीआरबी खंगाल रही पिस्टल का रिकॉर्ड : दुजाना के पास से एनकाउंटर के समय दो लाइसेंसी पिस्टल बरामद हुई थीं। उस पिस्टल का लाइसेंस किसके नाम पर है, अभी तक यह स्पष्ट नहीं हो सका है।
ऐसे में पुलिस की तरफ से डीसीआरबी (जिला अपराध शाखा) को दोनों पिस्टल का रिकॉर्ड भेजा गया है, जिससे डीसीआरबी में जमा रिकॉर्ड के साथ उसका मिलान किया जा सके। तभी स्पष्ट होगा कि पिस्टल का लाइसेंस किसके नाम पर है।घिटोरा के लापता योगेश का नहीं चल रहा पता एनकाउंटर के बाद से ही बागपत के घिटोरा गांव का रहने वाला 17 वर्षीय योगेश भी लापता है। योगेश के परिजनों की तरफ से राष्ट्रपति के नाम पत्र भेजा गया है। इसमें बताया कि चार मई को अनिल दुजाना अपने साथ योगेश को लेकर गया था। अनिल दुजाना ने कहा था कि उसे कड़कड़डूमा कोर्ट में पेश होना है। दोपहर बाद पता चला कि अनिल दुजाना का एनकाउंटर हो गया। इसके बाद से ही योगेश का भी कोई पता नहीं चल रहा।
अनिल दुजाना के पास से जो लाइसेंसी पिस्टल मिली है उसकी जांच कराई जा रही है। दोनों गाड़ियों की फॉरेंसिक जांच हो चुकी है। मामले की जांच चल रही है