#नर सेवा ही नारायण सेवा के तहत बच्चों में ऊनी वस्त्र का वितरण#

- Advertisement -

वाराणसी, 28 दिसम्बर। नर सेवा ही नारायण सेवा के तहत दीक्षा महिला कल्याण शोध संस्थान की ओर से असहाय व निराश्रित बच्चों में ऊनी वस्त्रों का वितरण किया गया।
हुकुलगंज स्थित संस्थान के कार्यालय परआयोजित एक कार्यक्रम के दौरान बच्चों में कपड़े व अन्य वस्त्र का वितरण किया गया। ऊनी वस्त्र पाकर बच्चों के चेहरे खिल उठे। कार्यक्रम मे आये अतिथियों ने कहा कि मंदिर व पूजा के साथ साथ ज्यादा जरुरी है यह भी है कि किसी मासूम के चेहरे पर मुस्कान ला देना। दीक्षा महिला कल्याण शोध संस्थान की ओर से इस तरह के किये जा रहे पुनित कार्य काबिले तारिफ है। गौरतलब हो कि संस्था की ओर से समय-समय पर लोगों के सहातार्थ कई नेक कार्य किये जाते हैं। इस ठीठुरन में बच्चों को गर्म कपड़े देकर उनको खुश किया गया। संस्था की अध्यक्ष संतोषी शुक्ला ने बताया कि संस्था की ओर से बच्चों को ना सिर्फ नि:शुल्क पढ़ाया जाता है बल्कि उनके पालन पालन के लिए भी हर संभव मदद की जाती है। बताया कि हर वर्ष ठंड में संस्था की ओर से लोगों में गर्म कपड़ों का वितरण किया जाता है। बच्चें तो भगवान का रुप होतें हैं, उनकी सेवा ही ईश्वरीय पूजा है। इस दौरान संस्था के संरक्षक अजय सिंह बॉबी,उमा शंकर अग्रहरि,सुनील उपाध्याय,शशांक शेखर त्रिपाठी अधिवक्ता ,दीपू शुक्ला, शालिनि सिंह अरुण मिश्रा,सोनी चौहान, सुमन शर्मा स्वेता श्रीवास्तव,इत्यादि लोग उपस्थित रहे,और बच्चों को खाद्य सामाग्री दिया। अजय सिंह ने बताया कि ऐसे कार्य के लिए समाज के अन्य लोगों को भी आगे आना चाहिए तभी समाज से गरीबी नाम का शब्द दूर हो सकता है