#गायब छात्र काे पुलिस ने परिजनों को सौंपा, मां की डांट से क्षुब्ध होकर छोड़ा था घर, ऐसे हुआ बरामद#

- Advertisement -

उन्नाव जिले के गंजमुरादाबाद में मां की डांट से क्षुब्ध होकर 15 वर्षीय छात्र प्रतापगढ़ स्थित घर को छोड़कर दिल्ली जा रहा था। पुलिस ने सर्विलांस की मदद से बेहटामुजावर थाना क्षेत्र में एक बस से उसे खोज लिया। परिजनों को सूचना देकर बुलाया और उनके सुपुर्द कर दिया।
बच्चे के मिलने पर परिवार की खुशी का ठिकाना नहीं रहा। प्रतापगढ़ जिले के एक गांव निवासी किशोर को मां ने पढ़ाई में लापरवाही पर गुरुवार सुबह डांट दिया था। इससे क्षुब्ध होकर वह कोचिंग के लिए निकला, लेकिन कोचिंग के बजाए दिल्ली जाने के लिए बस में बैठ गया।

दिल्ली में उसका एक दोस्त रहता है। कोचिंग न पहुंचने पर परिजनों तलाश शुरू की और पुलिस को सूचना दी। उसकी फोटो सोशल मीडिया पर शेयर की। पुलिस ने किशोर के मोबाइल नंबर को सर्विलांस पर लगाया तो रात 10 बजे लखनऊ-आगरा एक्सप्रेसवे के लखनऊ टोल प्लाजा की लोकेशन मिली।
प्राइवेट बस से सफर कर रहा था किशोर
बेहटामुजावर थाना की पीआरवी 2907 पर मौजूद उपनिरीक्षक बृजेश कुमार, कांस्टेबल पंकज कुमार व अरुण कुमार ने एक्सप्रेसवे की हवाई पट्टी पर बसों की चेकिंग शुरू की। रात करीब 1:30 बजे पुलिस ने किशोर को एक प्राइवेट बस से सफर करते हुए खोज लिया।
परिजनों का सौंप दिया गया है
परिजनों को सूचना दी तो लखनऊ की एक कालोनी निवासी मौसेरे चाचा व अन्य परिजन पहुंचे। पुलिस ने आवश्यक कार्रवाई पूरी करने के बाद किशोर को परिजनों के सुपुर्द कर दिया। पुलिस का कहना है कि मां की डांट से नाराज होकर युवक चला गया था, जिसे बरामद कर लिया गया है।